Mortgage Meaning in Hindi | जाने क्या होता है मॉर्गेज लोन?

Mortgage meaning in Hindi – मॉर्गेज एक वित्तीय प्रणाली का हिस्सा है जिसका उपयोग अक्सर वास्तविक संपत्ति की खरीददारी के लिए धन जुटाने के लिए किया जाता है। इस प्रक्रिया में व्यक्ति जो संपत्ति खरीदना चाहता है, वह एक वित्तीय संस्था अपनी संपत्ति को गिरवी रखकर से ऋण लेता है। इस प्रकार ऋण देने वाला (Mortgage) अपने पूंजी को सुरक्षित करता है, जबकि ऋण लेने वाला (Mortgagor) एक निर्धारित समय में ब्याज सहित ऋण की वापसी करता है।

Mortgage Loan क्या है? Mortgage meaning in Hindi

Mortgage Loan एक प्रकार का Loan है, जिसको लेनें के लिए हमें सिक्यूरिटी के रूप में किसी संपत्ति को गिरवी रखते है जिसे व्यक्ति या उद्यम एक निर्धारित धन राशि को सुरक्षित करने के लिए लेते हैं। इसे ही Mortgage Loan कहा जाता है . इसे आमतौर से नए घर की खरीददारी या मौजूदा संपत्ति के सुधार के लिए लिया जाता है। यह लोन की मान और इसकी योग्यता बैंक या ऋण देने वाली संस्था की नीतियों और व्यक्ति की आर्थिक स्थिति पर निर्भर करती है। अक्सर, इसे “प्रॉपर्टी लोन” भी कहा जाता है, क्योंकि यह संपत्ति को गिरवी में रखने के बदले लिया जाता है।

Myloanoffer.net

Loan Tap App Personal Loan कैसे लें

मॉर्गेज की कार्यप्रणाली

कोई भी व्यक्ति या कंपनियाँ Mortgage का उपयोग करके रियल एस्टेट प्रॉपर्टी खरीदने में इंटरेस्ट रखती हैं, जिसके तहत उनको उस संपत्ति की तत्काल पूरी खरीद कीमत नहीं चुकाना होता है। यह उधारकर्ताओं को एक संपत्ति का अधिकांश हिस्सा मिलने पर उसे उपयोग करने की अनुमति देता है, लेकिन जब तक कि वह पूरी तरह से संपत्ति मालिक नहीं बना जाता है, वे ऋण के ब्याज सहित पुनर्भुगतान करते रहता हैं। इस प्रकार का मॉर्गेज को “संपत्ति के खिलाफ ग्रहणाधिकार” या “संपत्ति पर दावा” भी कहा जाता है। यदि भुगतान में किसी कारणवश विफलता होती है, तो लेंडर फोरक्लोज़र प्रक्रिया शुरू कर सकता है और संपत्ति पर दावा कर सकता है।Mortgage meaning in Hindi इस प्रकार, जब भी ऋण का भुगतान नहीं होता है, लेंडर को संपत्ति को बेचकर अपना ऋण चुकाने का अधिकार होता है।

अगर संक्षेप में कहा जाये तो “मॉर्गेज की प्रक्रिया के दौरान ऋण देने वाला (मोर्टगेज़ी) संपत्ति को गिरवी रखकर अपनी पूंजी को सुरक्षित करता है, जबकि ऋण लेने वाला (मोर्टगेज़र) एक निर्धारित समयानुसार सामान्यत: ब्याज के साथ ऋण की वापसी करता है।”

Foreclosure: गिरवी रखी गई संपत्ति का कानूनी हासिल करना

Foreclosure प्रक्रिया के दौरान, अगर ऋण लेने वाला व्यक्ति ऋण को चुकाने में असमर्थ हो जाता है, तो ऋण देने वाला व्यक्ति को गिरवी रखी गई संपत्ति को हासिल करने का कानूनी अधिकार होता है, जिसे ‘फॉरक्लोज़र’ कहा जाता है।

Myloanoffer.netRupeePi App Personal Loan,सबको मिल रहा है ₹ 50 लाख तक का लोन अभी अप्लाई करे.

Myloanoffer.netरिंग ऐप से लोन कैसे लें

मॉर्गेज का सही उपयोग

मॉर्गेज एक ऐसा उपाय है जिससे लोग बड़ी मात्रा में धन जुटा सकते हैं और संपत्ति की खरीददारी कर सकते हैं, लेकिन इसके साथ ही सावधानीपूर्वक यह विचार करना महत्वपूर्ण है क्योंकि नासमझी या Loan न चुका पाने की अवस्था में संपत्ति को खोने का खतरा बना रहता है।

Myloanoffer.netHow To Get Loan Online – Take Loan Online Apply Now up to ₹5 Lakhs Instant

Myloanoffer.netKotak Mahindra Bank Personal Loan kaise Le

मॉर्गेज के लाभ (Benefits of Mortgage)

  • आर्थिक सहायता : मॉर्गेज का उपयोग वास्तविक संपत्ति की खरीददारी के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए किया जाता है, जिससे लोग अपने घर मालिक बन सकते हैं. जिसके लिए उन्होंने सपना देखा था.
  • ब्याज की दर: मॉर्गेज लोन की ब्याज दरें आमतौर पर Loan के प्रकार Customer Profile पर निर्भर करती हैं, लेकिन ये दरें अक्सर अन्य ऋण के मुकाबले कम होती हैं, क्योकि यह एक सुरक्षित लोन होता है. जिससे व्यक्ति कम ब्याज पर धन प्रबंध कर सकता है.
  • रियल एस्टेट निवेश: मॉर्गेज लोन का उपयोग Real Estate Investment के लिए भी किया जा सकता है, जिससे व्यक्ति विभिन्न वित्तीय लाभ उठा सकता है.

सावधानियां

  • ऋण की वापसी की योजना: मॉर्गेज लेने से पहले, व्यक्ति को ऋण की वापसी की स्पष्ट योजना बनानी चाहिए ताकि वह सही समय पर और बिना किसी समस्या के ऋण समय पर भुगतान कर सके.
  • ऋण की शर्तें और ब्याज दरें: Mortgage Loan की शर्तों और ब्याज दरों को ध्यानपूर्वक समझना और जानना जरूरी है। जिससे आने वाले समय में ऋण के भुगतान में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं होगी.
  • समयगत और सही जानकारी: मॉर्गेज के साथ संबंधित विवादों या किसी भी प्रकार की समस्याओं से बचने के लिए समयगत और सही जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है।

मॉर्गेज के प्रकार (Types of Mortgage)

वैसे तो मॉर्गेज कई प्रकार के होते है लेकिन हमने यहाँ कुछ मुख्य प्रकार के मॉर्गेज के बारे में जानकारी को कवर किया है, यह निम्न प्रकार है-

1. फिक्स्ड रेट मॉर्गेज: (Fixed Rate Mortgage)

  • विशेषता: Fixed Rate Mortgage में ब्याज दर ऋण के समयानुसार निर्धारित होती है और यह पूरे ऋण के कार्यकाल के दौरान एक सामान चलती है।
  • लाभ: ब्याज दरों की स्थिरता के कारण, ऋण लेने वाला व्यक्ति अपने मासिक भुगतान को स्थिर बनाये रख सकता है।

2. Adjustable Rate Mortgage

  • विशेषता: Adjustable Rate Mortgage में ब्याज दरें आमतौर पर निर्धारित समयानुसार समय समय पर बदलती हैं।
  • लाभ: अगर ब्याज दरें कम हो रही हैं, तो ऋण लेने वाला व्यक्ति लाभ हो सकता है, लेकिन यदि ब्याज बढ़ जाती है, तो भुगतान में बढ़ोतरी हो सकती है।और आपके ऊपर EMI का बोझ बढ़ जाता है.

3. बायोटो-लेवरेज्ड और इंवर्स मॉर्गेज:

  • विशेषता: इन मॉर्गेजों का उपयोग विशेष वर्गों के लिए किया जाता है, जैसे कि विद्यार्थियों या वृद्धावस्था के व्यक्तियों के लिए।
  • लाभ: इन मॉर्गेजों में अद्वितीय वित्तीय लाभ हो सकता है, जो विशेष आवश्यकताओं के अनुसार तैयार किए जा सकते हैं।

4. ब्रिज लोन:

  • विशेषता: यह एक सामयिक वित्तीय समाधान है जो व्यक्ति को एक संपत्ति की खरीददारी के लिए अवसर प्रदान करता है जब वह अपनी पूर्व निर्मित संपत्ति को बेचकर नई संपत्ति खरीदना चाहता है।
  • लाभ: ब्रिज लोन से व्यक्ति अपनी नई संपत्ति की खरीददारी के लिए तत्परता रख सकता है, जब तक कि वह पूर्व निर्मित संपत्ति को बेच नहीं देता है।

5. इंटरेस्ट ओन्ली मॉर्गेज (Interest-Only Mortgage):

  • विशेषता: इसमें ऋण के प्रारंभिक दौरान केवल ब्याज भुगतान किया जाता है, मुख्य ऋण राशि प्रारंभिक दौरान बढ़ती है।
  • लाभ: प्रारंभ में मासिक भुगतान कम होता है, लेकिन समय के साथ मुख्य ऋण बढ़ता है, जो आर्थिक स्थिति में सुधार करने का समय प्रदान करता है।

6. नियमित बुलेट मॉर्गेज:

  • विशेषता: इसमें, ब्याज और मुख्य ऋण राशि को अलग-अलग आवधियों में भुगतान किया जाता है, जिससे अनुकूलित भुगतान होता है।
  • लाभ: इससे ब्याज और मुख्य ऋण के लिए भुगतान करने में व्यक्ति को आराम मिलता है और समय के साथ आर्थिक स्थिति में सुधार हो सकता है।

7. Wraparound Mortgage:

  • विशेषता: इसमें पूर्व वित्तीय ऋण को बढ़ावा देने के लिए एक नया वित्तीय ऋण जोड़ा जाता है।
  • लाभ: यह ऋण देने वाले को बेचने वाले व्यक्ति के लिए अधिक सुलभता प्रदान कर सकता है, क्योंकि यह अधिकतम धन प्रदान करने में सक्षम हो सकता है।

8. सर्कुलेटरी मॉर्गेज (Convertible Mortgage):

  • विशेषता: इसमें ब्याज दरें आमतौर पर बदली जा सकती हैं, यदि व्यक्ति को इसे दूसरे प्रकार के मॉर्गेज में बदलने की आवश्यकता होती है।
  • लाभ: इससे व्यक्ति को वित्तीय विकल्पों की बढ़ी सुविधा होती है, जो आर्थिक स्थिति के अनुसार बदली जा सकती हैं।

Mortgage meaning in Hindi के दौरान हमने आपको मॉर्गेज के सम्बन्ध में पूरी जानकारी प्रदान करने की कोशिस की है , जानकरी आपको कैसे लगी और मॉर्गेज मीनिंग इन हिंदी से जुडी कोई जानकारी या सवाल है तो आप कमेन्ट बॉक्स में जाकर अपनी राय दे सकते है.

Mortgage को हिंदी में क्या कहते है?

मॉर्गेज को हिंदी में गिरवी रखना कहते है इसके दौरान जब कोई व्यक्ति ऋण लेने के लिए किसी सम्पत्ति को ऋण के सिक्योरिटी के लिए गिरवी रखता है तो वह सम्पत्ति मॉर्गेज कहलाती है.

मोरेगेज का मतलब क्या है?

मोरिगेज का शुद्ध मतलब मॉर्गेज होता है इसका मतलब है गिरवी रखना यह ऋण के मुकाबले सम्पति की सिक्यूरिटी देना.

मॉर्गेज लोन लेने में कितना समय लगता है?

Mortgage Loan एक Secure Loan होता है, और इस लोन को लेने के लिए गिरवी की प्रक्रिय अपनाई जाती है. इसलिए बहुत सी बैंक या वित्तीय संस्थाए ऑनलाइन माध्यम से 72 घंटे में मॉर्गेज लोन को मंजूर कर देती है.

मॉर्गेज लोन कौन-कौन सी बैंक देती है?

वर्तमान समय में लगभग सभी बैंक और लोन प्रदान करने वाली वित्तीय संस्थाएं मॉर्गेज लोन प्रदान करती है अधिक जानकारी के लिए आप बैंक या संस्था की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते है.

Leave a Comment

x